Jab beti ghar se vida ho jayegi

ये घर दरो दीवार सब तरसेंगे जब बर्तन खन खन खनकेंगे सारे पकवान फ़ीके पड़ जायेंगे जब बेटी घर से विदा हो जायेगी. बात बात पर उसका नाम मेरी जुबां पे कभी तेरी जुबां पे सांसें बहन की अटकी रह … Continue reading

Aaj braj mai holi hai

बरसाने बरसन लगी, नौ मन केसर धार । ब्रज मंडल में आ गया, होली का त्‍यौहार ।। लाल हरी नीली हुई, नखरैली गुलनार । रंग-रँगीली कर गया, होली का त्‍यौहार ।। आंखों में महुआ भरा, सांसों में मकरंद । साजन … Continue reading

Naseeb

जरुर कोई तो लिखता होगा इन कागज और पत्थर का नसीब…, वरना ये मुमकिन नहीं की कोई पत्थर ठोकर खाए और कोई पत्थर भगवान बन जाए…, और कोई कागज़ रद्दी और कोई कागज़ गीता और कुरान बन जाए…!!!