Aaj braj mai holi hai

बरसाने बरसन लगी, नौ मन केसर धार । ब्रज मंडल में आ गया, होली का त्‍यौहार ।। लाल हरी नीली हुई, नखरैली गुलनार । रंग-रँगीली कर गया, होली का त्‍यौहार ।। आंखों में महुआ भरा, सांसों में मकरंद । साजन … Continue reading