इंसान जाने कहां खो गये

[Translate] *एक अच्छी कविता प्राप्त हुई है, जो मनन योग्य है।* “जाने क्यूं_ अब शर्म से,_ चेहरे गुलाब नही होते।_ जाने क्यूं_ अब मस्त मौला मिजाज नही होते।_ पहले बता दिया करते थे, दिल की बातें।_ जाने क्यूं_ अब चेहरे_, … Continue reading

Inter national yoga day

[Translate] एक शादीशुदा की कलम से योग दिवस 😂😂😂😂😂😂😂 योग दिवस को मैं कुछ इस तरह से मना रहा हूँ, रात उसके पैर दबाए थे अब पोछा लगा रहा हूँ। धो रहा हूँ बर्तन और बना रहा हूँ चपाती, मेरे … Continue reading

महाराणा प्रताप जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

[Translate] सूरज झुका, चाँद झुका, झुके गगन के तारे, अखिल विश्व के शीश झुके, पर झुके नहीं प्रताप हमारे! मातृभूमि रक्षक वीरों के वीर महाराणा प्रताप महाराणा प्रताप जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏 *जय_महाराणा_प्रताप*🚩 *जय_मेवाड़*

Adhuri si kahani

[Translate] अधूरी सी कहानी दिल की और पूरा प्यार तुम, गीली पलकों की नमी और बेरहम याद तुम, अनछुआ दिल का कोना और रुह मे घुला एहसास हो सिर्फ तुम।

इंसान जाने कहां खो गये

[Translate] *एक अच्छी कविता प्राप्त हुई है, जो मनन योग्य है।* “जाने क्यूं_ अब शर्म से,_ चेहरे गुलाब नही होते।_ जाने क्यूं_ अब मस्त मौला मिजाज नही होते।_ पहले बता दिया करते थे, दिल की बातें।_ जाने क्यूं_ अब चेहरे_, … Continue reading

इंसान जाने कहां खो गये

[Translate] *एक अच्छी कविता प्राप्त हुई है, जो मनन योग्य है।* “जाने क्यूं_ अब शर्म से,_ चेहरे गुलाब नही होते।_ जाने क्यूं_ अब मस्त मौला मिजाज नही होते।_ पहले बता दिया करते थे, दिल की बातें।_ जाने क्यूं_ अब चेहरे_, … Continue reading