Krishna janmashtmi

कृष्ण ही कृष्ण- कृष्ण उठत कृष्ण चलत कृष्ण शाम भोर है, कृष्ण बुद्धि कृष्ण चित्त कृष्ण मन विभोर है। कृष्ण रात्रि कृष्ण दिवस कृष्ण स्वप्न शयन है, कृष्ण काल कृष्ण कला कृष्ण मास अयन है। कृष्ण शब्द कृष्ण अर्थ कृष्ण … Continue reading