Mitti ka jism

मिट्टी का जिस्म लेके पानी के घर में हूँ, मंजिल है मैरी मौत, मैं हर पल सफर में हूँ, होना है मेरा कत्ल, ये मालूम है मुझे, लेकिन खबर नहीं कि मैं किसकी नज़र में हूँ